टाइटेनियम डाईऑक्साइड के गुण उपयोग और जानकारी Titanium Dioxide in Hindi

टाइटेनियम डाईऑक्साइड के गुण उपयोग और जानकारी Titanium Dioxide in Hindi

 

टाइटेनियम डाईऑक्साइड क्या है (What is Titanium Dioxide)

टाइटेनियम डाइऑक्साइड एक अकार्बनिक यौगिक है, यह टाइटेनियम और ऑक्सीजन का रासायनिक संयोजन है, इसका रासायनिक सूत्र TiO2 है। इसके एक अणु में ऑक्सीजन के दो परमाणु और टाइटेनियम का एक परमाणु होता है। यह एक महीन सफेद पाउडर है जो प्राकृतिक रूप से होता है। इसे टाइटेनियम ऑक्साइड या टिटानिया के रूप में भी जाना जाता है। जब वर्णक के रूप में इसका उपयोग किया जाता है, तो इसे टाइटेनियम व्हाइट या पिगमेंट व्हाइट भी कहा जाता है। टाइटेनियम डाइऑक्साइड का उपयोग लगभग 100 वर्षों से बड़ी संख्या में विविध उत्पादों में किया जाता है। यह अपने गैर-विषाक्त, गैर-प्रतिक्रियाशील और चमकदार गुणों के लिए जाना जाता है, जो कई सामग्रियों की सफेदी और चमक को सुरक्षित रूप से बढ़ाता है।

titanium-dioxide-in-hindi, टाइटेनियम-डाईऑक्साइड-क्या-है, टाइटेनियम-डाईऑक्साइड-के-गुण, टाइटेनियम-डाईऑक्साइड-के-उपयोग,

टाइटेनियम डाईऑक्साइड के गुण (Properties of Titanium Dioxide in Hindi)  

  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड पानी में अघुलनशील, गंधहीन, सफ़ेद रंग का ठोस पदार्थ होता है।
  • इसका घनत्व 4.23 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है।
  • इसका अत्यधिक उच्च गलनांक (Melting Point) 1,843ºC और क्वथनांक (Boiling Point) 2,972ºC होता है।
  • इसमें परा बैंगनी किरणों को अवशोषित करने गुण पाया जाता है।
  • सभी ज्ञात वर्णकों (पिग्मेंट) में टाइटेनियम डाईऑक्साइड सबसे चमकीला तथा सबसे सफ़ेद वर्णक होता है।
  • अन्य सफ़ेद पदार्थों के विपरीत टाइटेनियम डाइऑक्साइड रोशनी मे हल्का पीला दिखाई देता है, क्योंकि यह पराबैंगनी किरणों को अवशोषित कर लेता है, परंतु वास्तव मे यह शुद्ध सफेद रंग का होता है ।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड का अपवर्तनांक (इसकी प्रकाश को बिखेरने की क्षमता) बहुत अधिक होता है, हीरे से भी अधिक। यह क्षमता इसे एक अविश्वसनीय रूप से उज्ज्वल पदार्थ और सौंदर्य डिजाइन के उपयोग के लिए एक आदर्श सामग्री बनाता है।
  • यह पराबैंगनी प्रकाश के तहत फोटोकैटलिटिक गतिविधि दिखा सकता है।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड (TiO2) को आमतौर पर रासायनिक रूप से निष्क्रिय माना जाता है, जिसका अर्थ है कि यह अन्य रसायनों के साथ प्रतिक्रिया नहीं करता है और इसलिए,यह एक स्थिर पदार्थ है जिसका उपयोग कई अलग-अलग उद्योगों में और विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए किया जा सकता है।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड (TiO2) कई अलग-अलग आकार बना सकता है, जिसमें अलग-अलग गुण होते हैं। कुछ आकृतियों को नैनोमटेरियल्स में बदला जा सकता है।

 

  टाइटेनियम डाईऑक्साइड के उपयोग (Uses of Titanium Dioxide in Hindi)

  • शुद्ध टाइटेनियम डाइऑक्साइड एक महीन, सफेद पाउडर है जो एक चमकदार, सफेद पिगमेंट होता है, इसलिए इसका सबसे महत्वपूर्ण उपयोग पेंट इंडस्ट्री मे पेंटस बनाने के लिए किया जाता है । एक अनुमान के अनुसार सभी तरह के पिगमेंटस मे से लगभग दो तिहाई पिगमेंटस को बनाने के लिए टाइटेनियम डाइऑक्साइड का ही उपयोग किया जाता है।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड पेंट को मजबूती प्रदान करता है और लंबे समय के लिए टिकाऊ बनाता है, इसके अलावा यह पेंट की गई सतह की सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद करता है ।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड सूर्य के प्रकाश के संपर्क मे आने वाली प्लास्टिक और अन्य सामग्रियों की सतहों में होने वाली भंगुरता, रंग का उड़ना और दरारें पड़ना जैसी समस्याओ को कम करने में मदद कर सकता है।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड का उपयोग चीनी मिट्टी के बर्तनों में एक विरंजन और ओपसीफाइंग एजेंट के रूप में किया गया है, जिससे उन्हें चमक, कठोरता और एसिड प्रतिरोध मिलता है।
  • पेपर इंडस्ट्री मे टाइटेनियम डाइऑक्साइड का उपयोग कागज को कोट करने के लिए किया जाता है, जिससे यह सफेद, उज्जवल और अधिक अपारदर्शी हो जाता है।
  • ऑटोमोबिल इंडस्ट्री मे नैनोस्केल टाइटेनियम डाइऑक्साइड का उपयोग उत्प्रेरक अनुप्रयोगों के लिए एक सहायक सामग्री के रूप में किया जाता है। इसका उपयोग वाहनों के एग्जॉस्ट से निकलने वाली नाइट्रस ऑक्साइड और अन्य हानिकारक गैसों को हटाने के लिए किया जाता है।
  •  पिगमेंट-ग्रेड टाइटेनियम डाइऑक्साइड का उपयोग त्वचा के दोषों को छिपाने और त्वचा को चमकदार बनाने में सहायता करने वाले कुछ सौंदर्य प्रसाधन उत्पादों (Cosmetics) को बनाने के लिए किया जाता है।
  • नैनोस्केल टाइटेनियम डाइऑक्साइड एक कुशल पराबैंगनी प्रकाश अवशोषक के रूप में कार्य करता है, इसलिए इसका उपयोग त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने वाली सनस्क्रीन बनाने के लिए किया जाता है। एक रिसर्च के अनुसार, टाइटेनियम डाइऑक्साइड युक्त सनस्क्रीन का उपयोग करने से त्वचा के कैंसर की घटना को रोकने में मदद मिल सकती है।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड को फूड कलर के रूप मे भी उपयोग किया जाता है, भोजन में इसे E171 के रूप में जाना जाता है, इसकी अनूठी सफेदी और चमक, गर्मी के प्रति स्थिरता, प्रकाश और यूवी अवशोषण टाइटेनियम डाइऑक्साइड को भोजन में सबसे प्रभावी सफेद रंग बनाते हैं। वास्तव में, यह अन्य विकल्पों की तुलना में पांच गुना अधिक कुशल है, जिससे वांछित प्रभाव प्राप्त करने के लिए अपेक्षाकृत E171 की कम मात्रा की आवश्यकता पड़ती है।
 

अन्य जानकारी (Other information)

  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड का प्रमुख प्राकृतिक स्रोत इल्मेनाइट नाम का अयस्क है, जिसमें 45-60 प्रतिशत TiO2 होता है।
  • गर्म और उष्णकटिबंधीय जलवायु में इमारतों के बाहर पेंट कोटिंग के रूप में टाइटेनियम डाइऑक्साइड का उपयोग किया जाता है, जिससे इसका शुद्ध सफेद रंग प्रकाश को परावर्तित करके इमारतों को अधिक गर्म होने से बचाता है, इस प्रकार इसके सफेद, प्रकाश-परावर्तक गुणों से काफी ऊर्जा की बचत हो सकती है, क्योंकि यह एयर-कंडीशनिंग की आवश्यकता को कम करता है।
  •  एक फोटोकैटलिस्ट के रूप में, टाइटेनियम डाइऑक्साइड को पर्यावरण प्रदूषकों को विघटित करने के लिए पेंट, सीमेंट, खिड़कियों और टाइलों में जोड़ा जा सकता है। एक नैनोमटेरियल के रूप में, इसे कारों, ट्रकों और बिजली संयंत्रों के लिए निकास गैस प्रणालियों में एक महत्वपूर्ण DeNOx उत्प्रेरक के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है, इस प्रकार उनके पर्यावरणीय प्रभाव को कम किया जा सकता है।
  • टाइटेनियम डाइऑक्साइड (TiO2) में अलग-अलग गुण होते हैं, जो इस बात पर निर्भर करता है कि इसे पिगमेंट-ग्रेड के रूप मे उत्पादित किया गया है या नैनोमैटेरियल-ग्रेड के रूप में । दोनों रूप बेस्वाद, गंधहीन और जल मे अघुलनशील होते हैं।
  • टाइटेनियम धातु पृथ्वी पर सबसे आम धातुओं में से एक है, लेकिन पृथ्वी की पपड़ी मे यह अपने शुद्ध रूप मे नहीं पाया जाता । टाइटेनियम डाइऑक्साइड – जिसे टाइटेनियम ऑक्साइड या टिटानिया के रूप में भी जाना जाता है, प्राकृतिक रूप से उत्पन्न होने वाला यौगिक है, यह तब बनता है जब टाइटेनियम धातु हवा में ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया करता है।

 

यह भी पढ़ें 

error: Content is protected !!