ओजोन गैस के गुण उपयोग और जानकारी Ozone Gas in Hindi

ओजोन गैस के गुण उपयोग और जानकारी Ozone Gas in Hindi

ओजोन क्या है (What is ozone in Hindi)

ओजोन एक गैस है, यह ना ही एक तत्व है और ना ही यह एक यौगिक है। ओजोन एक अणु है जो ऑक्सीजन के तीन परमाणुओं से मिलकर बना होता है, यह ऑक्सीजन का का एक एलोट्रोप (Allotrope) होता है, इसका रासायनिक सूत्र O3 है। यह गैस प्राकृतिक रूप से पृथ्वी के वातावरण में पायी जाती है, तथा इसे कृतिम रूप से भी बनाया जा सकता है। पृथ्वी के वायुमंडल में पायी जाने वाली ओजोन को स्ट्रैटोस्फेरिक ओजोन कहा जाता है। यह प्राकृतिक रूप से ऑक्सीजन (O2) के साथ सूर्य के पराबैंगनी (UV) विकिरण के संपर्क में आने से बनता है। पृथ्वी की सतह से लगभग 6 से 30 मील ऊपर ओजोन की परत उपस्थित है, यह परत पृथ्वी की सतह तक पहुंचने वाले हानिकारक यूवी विकिरण की मात्रा को कम करती है।

ओजोन क्या है, ओजोन गैस के गुण, ओजोन गैस के उपयोग, ओजोन गैस के स्वास्थ्य पर प्रभाव,

ओजोन गैस के गुण (Properties of ozone gas in Hindi)

  • ओजोन एक हलके नीले रंग की गैस है, जिसकी एक तीखी गंध होती है, जो जलते हुए धातु के तार के समान होती है।
  • ओजोन गैस का घनत्व 2.140 किलोग्राम प्रति घन मीटर है, इसलिए यह सामान्य हवा से भारी गैस है।
  • इसका गलनांक (Melting Point) -192 डिग्री सेल्सियस होता है, अर्ताथ इस तापमान पर ओजोन ठोस अवस्था से तरल अवस्था में परिवर्तित  हो जाती है, -192 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान पर यह गैस ठोस अवस्था में पायी जाती है।
  • इसका क्वथनांक (Boiling Point) -112 डिग्री सेल्सियस होता है, इस तापमान यह तरल अवस्था से गैस अवस्था में परिवर्तित हो जाती है।
  • ओजोन गैस रासायनिक रूप से अत्यंत सक्रीय गैस है।
  • ओजोन एक प्रबल ऑक्सीकारक गैस है।
  • यह पानी में अल्प मात्रा में घुलनशील है।
  • ओजोन एक अस्थिर गैस है, इसका आधा जीवन (Half Life) पानी में 20 मिनट है, जबकि हवा में इसका आधा जीवन 1 घंटे से 4 घंटे के बिच होता है, जिसके बाद यह टूटकर पुनः ऑक्सीजन में परिवर्तित हो जाती है। ओजोन गैस से ऑक्सीजन में परिवर्तित होने की प्रक्रिया एक्सोथर्मिक होती है।
  • उच्च सांद्रता में एकत्रित की गयी ओजोन गैस अत्यंत खतरनाक और विस्फोटक होती है।
  • ओजोन गैस अपने संपर्क में आने वाले कई पदार्थो को रंगहीन कर सकता है।
  • यह एक विषाक्त गैस होती है।

 

ओजोन गैस के उपयोग (Uses of ozone gas in Hindi)

  • वायुमंडल में उपस्थित ओजोन गैस सूर्य से आने वाले पराबैंगनी विकिरण को रोकती है, जिससे पृथ्वी पर रहने वाले जीव पराबैंगनी विकिरण के हानिकारक प्रभाव से बच जातें है।
  • ओजोन गैस का उपयोग हवा को शुद्ध करने के लिए किया जाता है।
  • एक मजबूत कीटाणुनाशक के रूप में इसका उपयोग पीने के पानी को कीटाणुरहित करने के साथ-साथ पानी से आपत्तिजनक गंध और स्वाद को दूर करने के लिए किया जाता है।
  • ओजोन का उपयोग व्यावसायिक रूप से कार्बनिक यौगिकों के लिए ब्लीचिंग एजेंट के रूप में उपयोग किया जाता है।
  • ओजोन का उपयोग घाव में संक्रमण को रोकने और कवक, बैक्टीरिया और वायरस को नस्ट करने लिए भी किया जाता है।
  • ओजोन थेरेपी का उपयोग हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने तथा श्वेत रक्त कोशिकाओं को उत्तेजित करने के लिए किया जाता है, परन्तु इनकी प्रभावशीलता लेकर पर्याप्त चिकित्स्कीय प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

ओजोन गैस के स्वास्थ्य पर प्रभाव (Health effects of ozone gas)

कुछ विशेष परिस्थितियों में, निचले वातावरण में नाइट्रोजन ऑक्साइड और हाइड्रोकार्बन के बीच फोटोकैमिकल प्रतिक्रिया होने से ओजोन गैस बहुत अधिक मात्रा में उत्पन्न हो सकती है, जिससे आंखों और श्लेष्मा झिल्ली में जलन हो सकती है ।

ओजोन गैस में सांस लेना हानिकारक होता है, यह गैस फेफड़ों में जाकर फेफड़ों की कोशिकाओं से रासायनिक प्रतिक्रिया करके उन्हें नस्ट कर देती है, जिससे फेफड़ों की ऑक्सीजन अवशोषित क्षमता नस्ट हो जाती है।

ओजोन गैस में सांस लेने पर सीने में दर्द, खांसी, सांस लेने में तकलीफ और गले में जलन जैसे लक्षण दिखाई दे सकते है, यह स्थिति अस्थमा तथा अन्य साँस के रोग से ग्रसित व्यक्तियों के लिए अधिक गंभीर हो सकती है।

यह भी पढ़ें 

Categories gas

Leave a Comment

error: Content is protected !!