कार्बन डाईऑक्साइड  के गुण उपयोग और जानकारी Carbon dioxide in Hindi

कार्बन डाईऑक्साइड  के गुण उपयोग और जानकारी Carbon dioxide in Hindi 

 

कार्बन डाईऑक्साइड क्या है (What is Carbon dioxide) 

कार्बन डाईऑक्साइड एक रासायनिक यौगिक है, इसका रासायनिक सूत्र CO2 है,  इसके अणु में कार्बन का एक परमाणु और ऑक्सीजन के दो परमाणु होते है। यह एक रंगहीन, गंधहीन और स्वाद में खट्टी गैस होती है। यह गैस प्राकृतिक रूप से पृथ्वी के वातावरण में पायी जाती है। कार्बन डाइऑक्साइड वायुमंडल में पायी जाने वाली सबसे महत्वपूर्ण गैसों में से एक होती है, क्योकि सभी पौधे इस इस गैस उपयोग प्रकाश संश्लेषण नाम की प्रक्रिया में कार्बोहाइड्रेट का उत्पादन करने के लिए करते हैं, जो  पृथ्वी पर भोजन का एक प्राथमिक स्रोत होता है। सभी जीव जन्तु और मनुष्य प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से भोजन के लिए पौधो पर ही निर्भर होते है, इसलिए पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व के लिए कार्बन डाईऑक्साइड गैस अत्यंत आवश्यक है। इसके अलावा यह एक महत्वपूर्ण ग्रीनहाउस गैस भी  है जो हमारे वातावरण में सूर्य गर्मी को फंसाने में मदद करती है, इससे हमारी पृथ्वी अधिक ठंडी नहीं होती, और पृथ्वी का वातावरण जीवों  रहने लायक बना रहता है।

कार्बन डाईऑक्साइड  के गुण (Properties of Carbon dioxide in Hindi)

  • यह एक रंगहीन, गंधहीन और स्वाद  खट्टी गैस होती है।
  • इसका घनत्व 1.87 किलोग्राम प्रति घन मीटर होता है, इसलिए यह गैस सामान्य हवा से भारी होती है।
  • इसका गलनांक (Melting Point) -56.6 डिग्री सेल्सियस होता है, जबकि इसका क्वथनांक (Boiling Point) -78.46 डिग्री सेल्सियस होता है।
  •  कार्बन डाईऑक्साइड का गलनांक (Melting Point) इसके क्वथनांक (Boiling Point) से अधिक होता है।
  • कार्बन डाईऑक्साइड ज्वलनशील गैस नहीं होती है।
  • यह पानी में घुलनशील होती है, जैसे जैसे तापमान में वृद्धि होती है, जल में इसकी घुलनशीलता कम होती जाती है।
  • कार्बन डाईऑक्साइड अम्लीय प्रकृति की गैस होती है।
  • कार्बन डाईऑक्साइड पानी में घुलकर कार्बोनिक एसिड का निर्माण करती है।

 

कार्बन डाईऑक्साइड  के उपयोग (Carbon dioxide uses in Hindi)

  • कार्बन डाईऑक्साइड का सबसे महत्वपूर्ण उपयोग पौधो के द्वारा प्रकाश संश्लेषण प्रक्रिया में किया जाता है।
  • यह गैस सामान्य हवा से भारी होती है, इसलिए यह हवा को विस्थापित कर देती है, यह ज्वलनशील भी नहीं होती इसलिए इसका उपयोग अग्निशामक गैस के रूप में किया जाता है।
  • इसका उपयोग कार्बोनेटेड पेय पदार्थो के उत्पादन में किया जाता है।
  • इसका उपयोग रेफ्रिजरेंट के रूप में भी किया जाता है।
  • यूरिया के उत्पादन में एक घटक के रूप में कार्बन डाईऑक्साइड का उपयोग अमोनिया के साथ किया जाता है।
  • ड्राई आइस का उपयोग स्टेज पर धुंए के बादल बनाने के लिए किया जाता है।
  • ग्रीन हाउस में पौधों के विकास को बढ़ावा देने के लिए कार्बन डाईऑक्साइड का उपयोग किया जाता है।
  • चिकित्सा में, एपनिया के बाद सांस लेने की उत्तेजना के लिए और ऑक्सीजन को स्थिर करने के लिए 5% कार्बन डाइऑक्साइड ऑक्सीजन के साथ जोड़ा जाता है।
  • कार्बन डाईऑक्साइड का उपयोग स्विमिंग पूल के PH को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।

 

कार्बन डाईऑक्साइड का उत्पादन 

व्यावसायिक रूप से कार्बन डाईऑक्साइड का उत्पादन प्राकृतिक गैस को जलाकर किया जाता है ।

 

कार्बन डाईऑक्साइड की रोचक जानकारी 

  • एक व्यस्क व्यक्ति प्रतिदिन लगभग 1 किलो कार्बन डाईऑक्साइड का उत्पादन करता है ।
  • शुक्र ग्रह के वायुमंडल में लगभग 97% कार्बन डाइऑक्साइड गैस उपस्थित है। वायुमंडल में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड की इस भारी मात्रा के कारण, शुक्र की सतह सूरज से प्राप्त होने वाली गर्मी को बरकरार रखती है, जिससे शुक्र ग्रह की सतह का तापमान लगभग 467 डिग्री सेल्सियस है, जो इसे हमारे सौर मंडल का सबसे गर्म ग्रह बनाता है।

 

यह भी पढ़ें 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!