नीयोडिमियम (Neodymium) के गुण उपयोग और जानकारी Neodymium in Hindi

नीयोडिमियम (Neodymium) के गुण उपयोग और जानकारी Neodymium in Hindi

 

नीयोडिमियम (Neodymium) का परिचय 

नीयोडिमियम (Neodymium) का वर्गीकरण रेयर अर्थ मेटल के रूप में किया जाता है, तथा रासायनिक रूप से यह एक तत्व है। नीयोडिमियम का परमाणु भार 144.242 AMU, परमाणु संख्या 60 तथा सिंबल (Nd) होता है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में नीयोडिमियम, ग्रुप Lanthanides, पीरियड 6 और ब्लॉक (F) में स्थित होता है। इसके परमाणु में 60 इलेक्ट्रान, 60 प्रोटोन, 84 न्यूट्रॉन तथा 6 एनर्जी लेवल होते है। नीयोडिमियम का घनत्व लगभग 7.01 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है।नीयोडिमियम सामान्य तापमान पर ठोस अवस्था में पाया जाता है, इसका गलनांक (पिघलने का तापमान) 1021 डिग्री सेल्सियस (1870 डिग्री फेरेनाइट) होता है, इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 3074 डिग्री सेल्सियस (5565 डिग्री फेरेनाइट) होता है, तथा इससे अधिक तापमान पर नीयोडिमियम गैस अवस्था में पाया जाता  है।

 

 

नीयोडिमियम की खोज ऑस्ट्रियन केमिस्ट कार्ल एफ. एउर वॉन वेल्सबाक (Carl F. Auer von Welsbach) ने 1885 में की थी।

 

Neodymium-ke-gun, Neodymium-ke-upyog, Neodymium-ki-Jankari, Neodymium-Kya-Hai, Neodymium-in-Hindi, Neodymium-information-in-Hindi, Neodymium-uses-in-Hindi, नीयोडिमियम-के-गुण, नीयोडिमियम-के-उपयोग, नीयोडिमियम-की-जानकारी
Neodymium in Hindi

👉आवर्त सारणी के सभी तत्वों की हिंदी में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें,  (Click here for detailed information on Periodic Table Elements in Hindi)

 

नीयोडिमियम (Neodymium) के गुण 

Neodymium-ke-gun, Neodymium-ke-upyog, Neodymium-ki-Jankari, Neodymium-Kya-Hai, Neodymium-in-Hindi, Neodymium-information-in-Hindi, Neodymium-uses-in-Hindi, नीयोडिमियम-के-गुण, नीयोडिमियम-के-उपयोग, नीयोडिमियम-की-जानकारी
Neodymium properties in Hindi

 

  • नीयोडिमियम सिल्वर रंग की चमकदार धातु है। 
  • नीयोडिमियम नर्म और मैलिएबल धातु है, अतः इसे पिट कर बड़ी आसानी से पतली चद्दर का रूप दिया जा सकता है। 
  • नीयोडिमियम रासायनिक रूप से अत्यंत सक्रीय धातु है, इसे हवा में खुला रखने पर इसके ऊपर धीरे-धीरे ऑक्साइड की परत जम जाती है, यह परत इसे और अधिक ऑक्सीकरण होने से नहीं बचाती है, इसलिए इसे खनिज तेल के अंदर स्टोर किया जाता है। 
  • नीयोडिमियम ठन्डे पानी के साथ धीरे-धीरे और गर्म पानी के साथ तेजी से प्रतिक्रिया करता है।
  • 150 डिग्री सेल्सियस से ऊपर के तापमान पर नीयोडिमियम बड़ी आसानी से जलने लगता है। 
  • नीयोडिमियम पानी और एसिड्स से प्रतिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस उत्पन्न करता है। 
  • नीयोडिमियम विषैला होता है, तथा इसके संपर्क में आने पर यह आँखों और त्वचा में भयानक जलन उत्पन्न करता है। 
  • नीयोडिमियम विधुत का अच्छा सुचालक नहीं होता है, इसकी विधुत सुचालकता ताँबे से लगभग 40 गुणा कम होती है। 
  • नीयोडिमियम ऊष्मा का मध्यम सुचालक होता है, इसकी ऊष्मा सुचालकता चाँदी से लगभग 25 गुणा कम होती है। 
  • नीयोडिमियम लोहे की तरह फैरोमेग्नेटिक धातु है, अर्ताथ यह किसी चुम्बक के संपर्क में आने पर उस चुंबकीय क्षेत्र को बनाये रखता है, तथा यह सबसे प्रबल स्थाई चुम्बक होता है। 

 

नीयोडिमियम (Neodymium) के उपयोग 

 

  • नीयोडिमियम का सबसे महत्वपूर्ण उपयोग शक्तिशाली स्थाई चुम्बक बनाने में किया जाता है, नीयोडिमियम, लोहा और बोरोन (NIB) से मिलकर बनाये गए स्थाई चुम्बक सबसे शक्तिशाली स्थाई चुम्बकों में से एक होते है, जिन्हे नीयोडिमियम मैगनेट भी कहा जाता है।
  • नीयोडिमियम मैगनेटस का उपयोग मोबाइल फोन, माइक्रोफोन, लाउडस्पीकर और इलेक्ट्रॉनिक संगीत वाद्ययंत्र जैसे आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में किया जाता है, इन शक्तिशाली चुम्बकों के कारण आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को छोटे आकार में बनाना संभव हो पाया है। 
  • नीयोडिमियम मिश-मेटल का एक महत्वपूर्ण घटक होता है, मिश-मेटल ऐसा मेटल होता है जिसका उपयोग लाइटर में उपयोग किया जाने वाला चकमक पत्थर बनाने में किया जाता है। 
  • नीयोडिमियम डीडीमियम ग्लास का एक घटक होता है, डीडीमियम ग्लास का उपयोग वैल्डिंग के दौरान उपयोग किये जाने वाले चश्मे बनाने में किया जाता है। 
  • कांच में लौह पदार्थो के कारण बननेवाले हरे रंग को हटाने के लिए कांच में नीयोडिमियम मिलाया जाता है। 
  • नियोडिमियम युक्त कुछ प्रकार के कांच का उपयोग खगोलविदों द्वारा स्पेक्ट्रोमीटर नामक उपकरणों को जांचने के लिए किया जाता है और अन्य प्रकार का उपयोग लेजर के लिए कृत्रिम माणिक बनाने के लिए किया जाता है। 
  • नियोडिमियम का उपयोग टेनिंग बूथों के लिए कांच में भी किया जाता है, क्योंकि यह टैनिंग यूवी किरणों को प्रसारित करता है, लेकिन हीटिंग इन्फ्रारेड किरणों को नहीं।
  • नियोडिमियम ऑक्साइड और नाइट्रेट पोलीमराइजेशन प्रतिक्रियाओं में उत्प्रेरक के रूप में उपयोग किए जाते हैं।
  • लेज़र बनाने के लिए नियोडिमियम ग्लास का उपयोग किया जाता है। इनका उपयोग लेजर पॉइंटर्स के साथ-साथ नेत्र शल्य चिकित्सा, कॉस्मेटिक सर्जरी और त्वचा कैंसर के उपचार के लिए किया जाता है।
  • नियोडिमियम दुर्लभ रसायनों में से एक है, जो घरों में रंगीन टीवी, फ्लोरोसेंट लैंप, ऊर्जा-बचत लैंप और चश्मे जैसे उपकरणों में पाया जाता है।
  • नियोडिमियम  का उपयोग कांच को बैंगनी, वाइन-लाल और ग्रे जैसे रंगो में रंगने में किया जाता है। 

 

नीयोडिमियम (Neodymium) की रोचक जानकारी 

  • पृथ्वी की पपड़ी में नीयोडिमियम 27 वॉ सबसे प्रचुर तत्व है। 
  • नियोडिमियम मैग्नेट (NIB) इतने शक्तिशाली होते है, की इन्हे विशेष देखभाल के साथ संभालना पड़ता है। दो NIB चुम्बक एक-दूसरे को इतनी दृढ़ता से आकर्षित करते हैं, कि वे एक-दूसरे से टकराकर चकनाचूर हो जाते हैं। 

 

यह भी पढ़ें 

Leave a Comment

error: Content is protected !!