ब्रोमिन (Bromine) के गुण, उपयोग और रोचक जानकारी Bromine information in Hindi

ब्रोमिन (Bromine) के गुण, उपयोग और रोचक जानकारी 

Bromine-ke-gun, Bromine-ke-upyog, Bromine-ki-Jankari, Bromine-information-in-Hindi, Bromine-uses-in-Hindi, ब्रोमिन-के-गुण, ब्रोमिन-के-उपयोग, ब्रोमिन-की-जानकारी
Bromine in Hindi

ब्रोमिन (Bromine) का परिचय 

ब्रोमिन (Bromine) का वर्गीकरण अधातु (Non-Metal) के रूप में किया जाता है तथा रासायनिक रूप से ब्रोमिन एक तत्व है। ब्रोमिन सामान्य तापमान पर तरल अवस्था में पायी जाती है, ब्रोमिन आवर्त सरणी के ग्रुप 17 में स्थित होती है, इस ग्रुप के सभी तत्वों को हैलोजन (Halogen) कहा जाता है। ब्रोमिन का परमाणु भार 79.904 AMU, परमाणु संख्या 35 तथा इसका सिंबल (Br) होता है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में ब्रोमिन, ग्रुप 17, पीरियड 4 और ब्लॉक (P) में स्थित होता है। इसके परमाणु में 35 इलेक्ट्रान, 35 प्रोटोन, 45 न्यूट्रॉन तथा 4 एनर्जी लेवल होते है। ब्रोमिन का घनत्व 3.119 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। इसका गलनांक (पिघलने का तापमान) माइनस 7.2 डिग्री सेल्सियस (19 डिग्री फेरेनाइट) होता है तथा इससे कम तापमान पर ब्रोमिन ठोस अवस्था में पायी जाती है। इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 58.8 डिग्री सेल्सियस (137.8 डिग्री फेरेनाइट) होता है। 

 

ब्रोमिन की खोज एंटोनी-जेरोमे बलार्ड (Antoine-Jerome Balard) ने 1774 में की थी।

Bromine-ke-upyog, Bromine-ki-Jankari, Bromine-information-in-Hindi, Bromine-uses-in-Hindi, ब्रोमिन-के-गुण, ब्रोमिन-के-उपयोग, ब्रोमिन-की-जानकारी
Bromine Properties in Hindi

 

ब्रोमिन (Bromine) के गुण   

  • ब्रोमीन गहरे लाल रंग का अत्यंत असहनीय गंधयुक्त तैलीय तरल पदार्थ है। 
  • ब्रोमीन अत्यंत विषाक्त होता है।  
  • ब्रोमीन एकमात्र अधातु है जो सामान्य तापमान पर तरल अवस्था में पाया जाता है।  

  • ब्रोमिन की रासायनिक सक्रियता फ्लोरिनऔर क्लोरीन से कम होती है, लेकिन फिर भी यह रासायनिक रूप से अत्यंत सक्रीय तत्व है, इसलिए यह प्रकृति में शुद्ध अवस्था में नहीं पाया जाता।  
  • ब्रोमिन खुली हवा में आसानी से वाष्पीकृत हो जाता है।
  • ब्रोमिन कार्बनिक तरल पदार्थों ( Organic liquids) में आसानी से घुल जाता है, जैसे एथनॉल, ईथर, मेथनॉल आदि। 
  • ब्रोमिन विधुत का कुचालक होता है। 

👉आवर्त सारणी के सभी तत्वों की हिंदी में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें,  (Click here for detailed information on Periodic Table Elements in Hindi)

 

ब्रोमिन (Bromine) के उपयोग 

  • ब्रोमिन का उपयोग कई प्रकार के रसायनों का उत्पादन करने में किया जाता है जिनमें कृषि रसायन, कीटनाशक, फर्मास्युटिकल रसायन आदि प्रमुख है। 
  • ब्रोमिन  के यौगिकों का उपयोग फर्नीचर फोम, कपडे, कालीन, पर्दे, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, प्लास्टिक आदि को कुछ हद तक अग्निरोधी (Flameproof ) या कम ज्वलनशील बनाने के लिए किया जाता है। 
  • सिल्वर ब्रोमाइट का उपयोग फोटोग्राफी में एक रसायन के रूप में किया जाता है। 
  • ऑर्गनब्रोमाइट का उपयोग हेलॉन (Halon) अग्निशामक यंत्रो में किया जाता था, जिनका उपयोग हवाईजहाजों में आग बुझाने में लिए किया जाता था, परन्तु इनसे धरती की ओजोन परत को होने वाले नुक्सान का पता चलने के बाद इन पर प्रतिबन्ध लगाया जा चुका है।  
  • ब्रोमिन के कुछ यौगिकों का उपयोग दवाइयों में और पानी को शुद्ध करने में किया जाता है। 
  • ब्रोमिन का उपयोग  ब्रोमिनेटेड वेजिटेबल आयल (Brominated vegetable oil) बनाने में किया जाता है जिसका उपयोग कुछ खट्टे स्वाद वाले सॉफ्ट-ड्रिंक में एमल्सिफिएर (Emulsifier) के रूप में किया जाता है।

 

ब्रोमिन (Bromine) की रोचक जानकारी 

  • ब्रोमिन पृथ्वी पर 50 वॉ सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है। 
  • ब्रोमिन पृथ्वी की पपड़ी की तुलना में समुद्री जल में कहीं अधिक मात्रा में पाया जाता है । 
  • ब्रोमिन समुद्र के पानी से निकला जाने वाला पहला तत्व था, आज अधिकतर ब्रोमिन का उत्पादन  इजराइल में मृत-सागर से किया जाता है।  
  • त्वचा के संपर्क में आने पर ब्रोमीन त्वचा को अति गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त कर देती है, तथा इसकी वाष्प के संपर्क में आने पर आँखे, नाक और गले में भयानक जलन होने  लगती है। 
  • ब्रोमिन सूक्ष्म मात्रा में लगभग सभी जीवो में उपस्थित होता है। 
  • ब्रोमिन और पारा (Mercury) ऐसे दो तत्व है जो कमरे के तापमान (20 डिग्री सेल्सियस) पर तरल अवस्था में पाए जाते है। इनके अलावा एक और तत्व गैलियम (Gallium) है,जो 29.76 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर तरल अवस्था में पाया जाता है।
 

Leave a Comment

error: Content is protected !!