सोडियम (Sodium) के उपयोग, गुण और रोचक तथ्य Sodium in Hindi

 सोडियम (Sodium) के गुण, इसके उपयोग और रोचक जानकारी  

 

सोडियम (Sodium) का परिचय 

सोडियम का वर्गीकरण अल्कली मेटल (Alkali Metal) के रूप में किया जाता है, तथा रासायनिक रूप से सोडियम एक तत्व होता है। सोडियम सफ़ेद-सिल्वर रंग की नर्म धातु होती है, इसका घनत्व 0.97 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। सोडियम का सिंबल Na, इसकी परमाणु संख्या 11 और इसका परमाणु भार 22.9897 amu होता है। सोडियम के परमाणु में 11 इलेक्ट्रान, 11 प्रोटोन, 12 न्यूट्रॉन और 3 एनर्जी लेवल होते है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में सोडियम ग्रुप 1, पीरियड 3 और ब्लॉक् S में स्थित होता है। सोडियम सामान्य तापमान पर ठोस अवस्था में पाया जाता है, इसका  गलनांक (पिघलने का तापमान) 97.72  डिग्री सेल्सियस (207.9 डिग्री फेरेनाइट) और इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 883 डिग्री सेल्सियस (1621 डिग्री फेरेनाइट) होता है, इससे अधिक तापमान पर सोडियम गैस अवस्था में पाया जाता है। 

सोडियम की खोज 1807 में सर हम्फ्रे दवे (Sir Humphrey Davy) ने की थी। 

Sodium-ke-gun, Sodium-ke-upyog, Sodium-ki-Jankari, Sodium-in-Hindi, Sodium-information-in-Hindi, Sodium-uses-in-Hindi, सोडियम-के-गुण, सोडियम-के-उपयोग, सोडियम-की-जानकारी
Sodium in Hindi

 

सोडियम (Sodium) के गुण 

 
Sodium-ke-gun, Sodium-ke-upyog, Sodium-ki-Jankari, Sodium-in-Hindi, Sodium-information-in-Hindi, Sodium-uses-in-Hindi, सोडियम-के-गुण, सोडियम-के-उपयोग, सोडियम-की-जानकारी
Sodium Properties in Hindi
  • सोडियम सफ़ेद-सिल्वर रंग की धातु होती है। 
  • शुद्ध सोडियम बिजली और उष्मा का अच्छा संवाहक होता है। 
  • सोडियम बहुत नर्म धातु होती है, यह इतना नरम होता है की इसे साधारण चाकू से भी आसानी से काटा सकता है। 
  • सोडियम रासायनिक रूप से बहुत अधिक सक्रिय होता है, अतः यह प्रकृति में शुद्ध अवस्था में नहीं पाया जाता। शुद्ध सोडियम मेटल का उत्पादन पिघले हुए सोडियम क्लोराइड के इलेक्ट्रोलिसिस के द्वारा किया जाता है। 
  • पानी के संपर्क में आने पर सोडियम में तुरंत ही भयानक विस्फोट हो जाता है, पानी और सोडियम की प्रतिक्रिया होने पर सोडियम हाइड्रोऑक्साइड और हाइड्रोजन गैस  बनती है। 
  • सोडियम एल्कोहल से भी पानी के समान ही प्रतिक्रिया करता है, परन्तु यह प्रतिक्रिया थोड़ी धीमी होती है। 
  • शुद्ध सोडियम के हवा के संपर्क में आने पर इसके ऊपर ग्रे रंग की ऑक्साइड की परत जम जाती है, जिसे सोडियम ऑक्साइड कहा जाता है। 
  • सोडियम नाइट्रोजन से प्रतिक्रिया नहीं करता, अति उच्च तापमान पर भी नहीं। 
  • सोडियम 200 डिग्री सेल्सियस से ऊपर हाइड्रोजन से प्रतिक्रिया करता है और सोडियम हाइड्राइड बनाता है।  
  • सोडियम को जलाने पर इससे बहुत तेज पिली लौ निकलती है। 
  • सोडियम पारे में घुल जाता है और सोडियम अमलगम बनाता है। 

 

सोडियम (Sodium) के उपयोग 

  • तरल सोडियम मेटल का उपयोग परमाणु ऊर्जा संयंत्रों में हीट एक्सचेंजर माध्यम के रूप में किया जाता है। 
  • सोडियम का उपयोग टाइटेनियम टेट्रा क्लोराइड (TiCl 4) से टाइटेनियम धातु बनाने में किया जाता है।  
  • सोडियम का उपयोग कृतिम रबर बनाने में उत्प्रेरक के रूप किया जाता है। 
  • सोडियम की वाष्प और इलेक्ट्रिक करंट के मिलने से पिली रौशनी निकलती है, इसलिए सोडियम का उपयोग पिली रौशनी देने वाले बल्ब बनाने में किया जाता है, इनका अधिकतर उपयोग स्ट्रीट बल्ब के रूप में किया जाता है। 
  • सोडियम प्रत्येक जीवित प्राणी के लिए आवश्यक होता है, एक वयस्क मनुष्य के शरीर में इसकी मात्रा लगभग 100 ग्राम होती है। सोडियम हमारे शरीर में तंत्रिका तंत्र के संकेतो को प्रसारित करने का कार्य करता है, इसके अलावा यह हमारे शरीर की कोशिकाओं और रक्त में जल स्तर को नियमित करने का कार्य करता है। 
  • सोडियम क्लोराइड (NaCl, साधारण नमक) का उपयोग भोजन में कई तरह से किया जाता है। 
  • सोडियम क्लोराइड का उपयोग सर्दियों में सड़को से बर्फ हटाने में भी किया जाता है। 
  • सोडियम कार्बोनेट (Na2CO3, वाशिंग सोडा) का उपयोग वाटर सॉफ्टनर के रूप में किया जाता है। 
  • सोडियम कार्बोनेट का उपयोग कांच बनाने में किया जाता है। 
  • सोडियम बाईकार्बोनेट (NaHCO3, बेकिंग सोडा) का उपयोग भोजन में किया जाता है। 
  • सोडियम हाइड्रोऑक्साइड (NaOH, कास्टिक सोडा) का उपयोग साबुन बनाने में किया जाता है। इसके अलावा सोडियम हाइड्रोऑक्साइड का उपयोग पेपर इंडस्ट्री, पेट्रोलियम इंडस्ट्री, टेक्सटाइल इंडस्ट्री, मेटल प्रोसेसिंग इंडस्ट्री, माइनिंग इंडस्ट्री और ग्लास इंडस्ट्री में किया जाता है। 
  • सोडियम नाइट्रेट (NaNO3, चिली सॉल्टपीटर) का उपयोग फर्टिलाइज़र के रूप में किया जाता है।  
 

सोडियम (Sodium) की रोचक जानकारी 

  • सोडियम धरती पर छठा सबसे अधिक पाया जाने वाला तत्व है। 
  • सोडियम का सबसे अधिक पाया जाने वाला योगिक सोडियम क्लोराइड (साधारण नमक) है। 
  • सोडियम रासायनिक रूप से बहुत अधिक सक्रिय होता है और वातावरण की ऑक्सीजन और नमी से प्रतिक्रिया कर सकता है, इसलिए सोडियम मेटल को स्टोर करने के लिए इसे केरोसिन के अंदर रखा जाता है। 
  • सोडियम पानी से हल्का होता है इसलिए पानी में डालने पर यह पानी के ऊपर तैरने लगता है, लेकिन यह तुरंत ही पानी से प्रतिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस उत्पन्न करता है, इस प्रतिक्रिया में इतनी अधिक ऊर्जा उत्पन्न होती है की हाइड्रोजन में तुरंत ही विस्फोट हो जाता है। 
  • सोडियम के यौगिक सोडियम मेटल से अधिक उपयोग में आते है।   

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!