यूरेनियम के गुण, उपयोग और रोचक तथ्य Uranium in Hindi

 यूरेनियम के गुण, उपयोग और रोचक तथ्य

 

परिचय 

यूरेनियम एक सफ़ेद-सिल्वर रंग की धातु होती है, तथा रासायनिक रूप से यह एक तत्व है। यूरेनियम सामान्य तापमान पर ठोस अवस्था में पाया जाता है। यूरेनियम धातु का घनत्व 18.95 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है।  यूरेनियम का सिंबल U होता है। इसकी परमाणु संख्या 92 तथा इसका परमाणु भार 238.029 होता है। यूरेनियम के परमाणु में 92 इलेक्ट्रान, 92 प्रोटॉन, 146 न्यूट्रॉन और 7 एनर्जी लेवल होते है। यूरेनियम का गलनांक (पिघलने का तापमान) 1135 डिग्री सेल्सियस (2075 डिग्री फेरेनाइट) और इसका क्वथनांक (उबलने का तापमान) 4131 डिग्री सेल्सियस (7468 डिग्री फेरेनाइट) होता है। आवर्त सारणी (Periodic Table) में यूरेनियम ग्रुप Actinides, पीरियड 7 और ब्लॉक F में स्थित होता है। 

 

यूरेनियम की खोज 1789 में जर्मन रसायनशास्त्री (केमिस्ट) मार्टिन हेनरिक कलाप्रोथ ने की थी। 

Uranium-in-Hindi, Uranium-Properties-uses-and-facts-in-Hindi
यूरेनियम के गुण, उपयोग और रोचक तथ्य

 

यूरेनियम के गुण 

Uranium-ke-gunn-upyog-or-rochak-tathy, Uranium-in-Hindi
Uranium Properties in Hindi
  • यूरेनियम सफ़ेद-सिल्वर रंग की धातु होती है। 
  • यूरेनियम एक रेडियोएक्टिव तत्व होता है। 
  • यूरेनियम अत्यंत कठोर धातु होती है, यह इतना कठोर होता है की कांच को भी खुरच सकता है।
  • यूरेनियम डक्टाइल धातु होती है, इसलिए इससे पतले तार बनाये जा सकते है। 
  • यूरेनियम मेलिएबल धातु होती है, इसलिये इसे पतली चददर (शीट) का रूप दिया जा सकता है।
  • ऑक्सीजन के संपर्क में आने पर यूरेनियम के ऊपर काले रंग की ऑक्साइड की परत जम जाती है, जिसे यूरेनियम ऑक्साइड कह्ते है। 
  • यूरेनियम -235 मुख्य फिशाइल तत्वों में से एक है, फिशाइल तत्व ऐसे तत्व होते है जो परमाणु विखंडन की श्रंखला अभिक्रिया को बनाए रखते है।
  • यूरेनियम रासायनिक रूप से बहुत अधिक सक्रिय धातु होती है, यह अधिकतर अधात्विक तत्वों से क्रिया करके यौगिक बना सकता है। 
  • यूरेनियम के यौगिक पिले या हरे रंग के होते है।
  • यूरेनियम विधुत का अच्छा सुचालक नहीं होता है।  
  • यूरेनियम नाइट्रिक एसिड में घुल जाता है।
  • यूरेनियम अल्प मात्रा में जल में घुलनशील होता है। 

👉आवर्त सारणी के सभी तत्वों की हिंदी में विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें,  (Click here for detailed information on Periodic Table Elements in Hindi)

 

यूरेनियम के उपयोग 

  • यूरेनियम-238 का उपयोग प्लूटोनियम-239  के उत्पादन में किया जाता है।  
  • डेप्लेटेड यूरेनियम (Depleted Uranium) का उपयोग टैंक के कवच (Armor) बनाने में किया जाता है।
  • यूरेनियम का उपयोग परमाणु बम बनाने में किया जाता है। 
  • यूरेनियम का उपयोग मिसाइल, छोटे गोले और गोलियाँ बनाने में भी किया जा सकता है। 
  • यूरेनियम-235 का उपयोग परमाणु सयंत्रो में ईंधन के रूप में किया जाता है, परमाणु संयंत्रों में यूरेनियम के द्वारा पानी गर्म करके भाप बनाई जाती है, फिर उस भाप का उपयोग करके बिजली बनाई जाती है। 
  • यूरेनियम के आइसोटोप यूरेनियम-238 का उपयोग आग्नेय चट्टानों की उम्र जांचने और अन्य रेडियोमेट्रिक डेटिंग के लिए किया जाता है।
  • प्राचीन समय में यूरेनियम यौगिकों का उपयोग रंगीन कांच बनाने में किया जाता था।  

 

यूरेनियम की रोचक जानकारी 

  • यूरेनियम प्रकृति में बहुत दुर्लभ नहीं है, यह व्यापक रूप पुरे पर्यावरण में फैला हुआ है, इसलिए इससे बचना असंभव है।
  • जमीन के अंदर उगने वाली सब्जियों में सूक्ष्म मात्रा में यूरेनियम पाया जाता है। मूली में यूरेनियम की मात्रा थोड़ी अधिक हो सकती है, परन्तु वह मात्रा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं होती।   
  • 1896 में पहली बार यूरेनियम की रेडियोधर्मिता का पता लगाया गया।  
  • युद्ध में इस्तेमाल किया गया पहला परमाणु बम यूरेनियम-235 से बनाया गया था, यह बम जापान के हिरोशिमा शहर पर गिराया गया था। जबकि जापान के नागासाकी शहर पर गिराया गया परमाणु बम प्लूटोनियम से बना था। 
  • प्राकतिक रूप से यूरेनियम के केवल 3 आइसोटोप पाए जाते है, यूरेनियम-234, यूरेनियम-235 और यूरेनियम-238, इनमें से केवल यूरेनियम-235 ही परमाणु ऊर्जा के लिए उपयोग किया सकता है।  
  • प्राकृतिक रूप से अधिकतर यूरेनियम-238 ही पाया जाता है, जबकि प्राकतिक रूप से यूरेनियम-235 केवल 0.7 % ही पाया जाता है। 
  • यूरेनियम का पाउडर अचानक स्वतः ही (Self-ignite) जल उठता है। 
  • एक किलोग्राम यूरेनियम से 1500 टन कोयले के बराबर ऊर्जा उत्पन्न की जा सकती है। 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!